ये कहानी BhadreshKumar ChetanBhai Patel FBI Most Wanted की है। यह शख्स गुजरात के वीरमगाम इलाके में पैदा हुआ। जिसका नाम भद्रेश कुमार चेतन भाई पटेल था। पैदाइश के बाद से यह वही पर रहता है। 2015 में गुजरात में ही इसकी शादी हो जाती है। इसकी वाइफ का नाम पलक था। शादी के कुछ दिन बाद ही भद्रेश अमेरिका जाने का फैसला करता है। उसकी वजह यह थी कि भद्रेशकुमार चेतन भाई पटेल के बहुत सारे रिश्तेदार अमेरिका में थे। अच्छी पोजीशन पर थे। शुरुआत में तो यह हनीमून मानाने के इरादे से वहां पर जाता है। इसी हिसाब से इसको वहां पर Visa मिला था। अमेरिका जाने के बाद भद्रेश का मन बदल जाता है। वह सोचता है, वह यहीं पर रहेगा। यहीं पर अपनी जिंदगी गुजारेगा।

पलक का अमेरिका में रहने से मन करना-

मगर पलक वहां पर रहने से मना कर देती है। वह वहां घूमने और हनीमून मनाने के इरादे से ही गयी थी। इसके बाद इन दोनों में टकराव शुरू हो जाता है। पत्नी का कहना यह था कि अपने घर वापस चले। अपने देश में ही रहे। वहीं पर नौकरी करें पति चाहता था कि अब अमेरिका को छोड़कर नहीं जाएंगे। इस दौरान में उसके एक रिश्तेदार थे। जिनका वहां पर अपना एक Dunkin Donuts Store था। वहीं पर अपने रिश्तेदार के यहां इन्होंने पार्ट टाइम जॉब करना शुरू कर दिया। इस Dunkin Donuts Store में यह दोनों पति पत्नी काम करते थे।

Bhadreshkumar Chetanbhai Patel FBI Most Wanted
Bhadresh Kumar Chetan Bhai Patel

अप्रैल आते-आते इनका वीजा खत्म हो चुका था। अब इनको इंडिया वापस आना था। लेकिन भद्रेश मन बना चुका था कि वह वापस भारत नहीं लौटेगा। वीजा खत्म होने के बावजूद भी वह अमेरिका में रह रहा था। क्योंकि वहां पर उसके रिश्तेदार थे। इसी वजह से एजेंसी भी उसको नहीं पकड़ पा रही थी। वह वहीं पर dunkin donuts store में ही काम करने लगा।

पलक का क़त्ल-

12 अप्रैल 2015 की बात है। रात करीब 9:30 के आसपास दोनों की रात की ड्यूटी थी। यह स्टोर में जाते हैं। सीसीटीवी कैमरे में यह दिख रहा है। यह दोनों स्टोर में जाने के बाद अपने कपड़े चेंज करते हैं। स्टोर के कपड़े पहन लेते हैं। उसके बाद अंदर की तरफ जाते हैं। करीब 1:30 मिनट के बाद सीसीटीवी कैमरे में उसी जगह पर अचानक एक तस्वीर दिखाई देती है। भद्रेश और पलक दोनों एक साथ अंदर गए थे। लेकिन वापस 1:30 मिनट के बाद सिर्फ भद्रेश ही आता है। वहां से तेजी से निकल जाता है। पलक इस सीसीटीवी कैमरे की तस्वीर में नहीं थी। उसके अंदर जाने की तस्वीर तो थी पर बाहर निकलने की तस्वीर नहीं थी। स्टोर खुला हुआ था।

क़त्ल का पता चलना-

इसी दौरान में कुछ ग्राहक आते हैं। वह अंदर आकर आवाज देते हैं। वह कुछ आर्डर देना चाहते थे। वहां पर कोई आवाज नहीं सुनता। ग्राहक कई बार आवाज देते हैं। उन्हें लगता है, कि स्टोर खुला हुआ है। यहां पर कोई नहीं आ रहा। उनको शक होता है। Store आसपास चारों तरफ देखता है। बाहर निकलता है। इत्तेफाक से बाहर एक पुलिस वाला टहल रहा था। वह उस पुलिस वाले के पास जाता है। कहता है कि मैं स्टोर में आया हूं। मुझे लगता है कि कुछ गड़बड़ है। यहां पर कभी ऐसा नहीं  होता है। तुम यहां ऑर्डर देने आए और पर कोई ना मिले।

एक बार आप आकर देख लीजिए। पुलिसवाला सुनकर अंदर आ जाता है। स्टोर की तलाशी लेना शुरू कर देता है। तलाशी लेते-लेते वह उस तरफ जाता है। जहां कुछ देर पहले भद्रेशकुमार और पलक अंदर की तरफ जाते दिखाई देते हैं। पुलिसवाला अंदर की तरफ जाता है। थोड़ी देर के बाद घबराते हुए वापस आता है। अपने बाकी पुलिस वालों को फोन करता है। वह पुलिस वाले भी वह आते हैं।

देखते है, कि पीछे फर्श पर पलक की लाश पड़ी हुई थी। लाश ऐसी थी की उसके पूरे शरीर पर चाकुओं के घाव थे। मारपीट के भी निशान थे। ऐसा लगा था कि बड़ी बहरमी से उसे मारा गया है। फर्श पर चारों तरफ खून पड़ा हुआ था। खून से लगा हुआ एक चाकू भी वहां पड़ा हुआ मिला। पुलिस फौरन लाश को उठाकर हॉस्पिटल ले जाती है। मगर पलक पहले ही दम तोड़ चुकी थी।

पुलिस का छानबीन शुरू करना-

अब इसके बाद पुलिस छानबीन शुरू कर देती है। सबसे पहले वह सीसीटीवी कैमरे को देखती है। जो उस स्टोर में लगा हुआ था। इस कैमरे में 9:30 पर दोनों अंदर जाते हुए दिखा देते हैं। 1:30 मिनट के बाद सिर्फ पति बाहर की तरफ आता है। जिस तेजी से वह निकलता है। उसको देखकर पुलिस का शक होता है। उसके बाद ना कोई गया और ना ही आया। अब सीधा शक पुलिस को उस शख्स पर ही गया। जो बाहर निकला था। जब तक पुलिस को यह नहीं मालूम था, कि यह दोनों पति-पत्नी है। इसके बाद उस स्टोर के मालिक को फोन किया जाता है। वह वहां पर आ जाता है। वह बताता है कि यह पलक है। सीसीटीवी कैमरा देख कर बताता है, कि भद्रेशकुमार इसका पति है।

वहां से निकलने के बाद भद्रेश एक अपार्टमेंट की तरफ जाता है। जहां पर वो रहता था। वहां से अपनी जरूरत की तमाम चीजें लेता है। एक टैक्सी करके वही एयरपोर्ट के करीब एक होटल में चला जाता है। होटल में जाने के बाद वह वहां पर एक रूम किराए पर ले लेता है। रिसेप्शन पर बाकायदा उसकी सीसीटीवी कैमरे की तस्वीर मौजूद है। सुबह-सुबह वह होटल खाली कर देता है।

यह उस होटल से निकलने की उसकी आखिरी तस्वीर-

होटल खाली करने के बाद वह वहां से न्यूयॉर्क के लिए निकल जाता है। यह उस होटल से निकलने की उसकी आखिरी तस्वीर थी। उसके बाद से उसका कोई सुराग नहीं मिलता। इस दौरान पुलिस इसको चारों तरफ ढूंढती है। रिश्तेदारों से भी पता करती है। लेकिन भद्रेशकुमार (BhadreshKumar ChetanBhai Patel FBI Most Wanted) का कोई सुराग नहीं मिलता। सबसे कमाल की बात यह थी। जब वह निकला और टैक्सी ड्राइवर उसको होटल तक लेकर गया। यह सारी चीजें पता करने में पुलिस को रात से सुबह हो गई थी। सुबह जब तक पुलिस को इन सभी चीजों के बारे में पता चलता। जब तक वह होटल से निकल चुका था। जो कीमती वक्त था। वह निकल चुका था। उस वक्त वहां की लोकल पुलिस जांच कर रही थी।

टैक्सी ड्राइवर का उसके बारे हैरत वाली बात बताना-

टैक्सी ड्राइवर ने बताया कि जब वह आया तो वह बिल्कुल नॉर्मल लग रहा था। उसके चेहरे से बिल्कुल भी नहीं लग रहा था। ये ऐसा करके आया है। होटल के सीसीटीवी कैमरे में भी साफ दिख रहा है। वह बिल्कुल कूल और नॉर्मल है। पुलिस को अजीब लगा कि एक शख्स इतनी बेरहमी से अपनी पत्नी का कत्ल कर गया है। वह इतना नॉर्मल उसके हाव-भाव से नहीं लग रहा था कि वह कत्ल करके आया है।

न्यूयॉर्क जाने के बाद से भद्रेशकुमार (BhadreshKumar ChetanBhai Patel FBI Most Wanted) का कोई सुराग नहीं मिलता। पुलिस अपनी जांच में लगी रहती है। जितने भी भद्रेश के रिश्तेदार थे। उन सब से पूछताछ करती है। उसके तमाम लोगों से पूछताछ करती है। इंडिया में उसके जानने वालों को भी खबर दी जाती है। लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। धीरे-धीरे वक्त बीता चला गया और आखिर में यह केस पुलिस से लेकर FBI को दे दिया गया। FBI भी अपनी तरफ से पूरी जांच करती है। क्योंकि यह गुजरात से था। गुजरातियों की काफी बड़ी आबादी अमेरिका में है। FBI हिंदी, इंग्लिश और गुजराती Language में काफी पर्चे छपवाती है। अमेरिका के अलग-अलग शहरों में देती है। धीरे-धीरे उसकी तलाश तेज हो जाती है। लेकिन कहीं से भी भद्रेशकुमार की कोई जानकारी नहीं मिलती।

FBI का उसके ऊपर एक लाख डॉलर का इनाम रखना-

जब जानकारी नहीं मिलती तो FBI उसके ऊपर एक लाख डॉलर का इनाम रख देती है। बाद में जो FBI को जानकारी मिली। वह यह थी कि इस का वीजा खत्म हो चुका था। वह अमेरिका से कानूनी तरीके से बाहर नहीं जा सकता। क्योंकि इसके पास वीजा नहीं था। सोचने वाली बात यह है, कि वह अमेरिका से बाहर कहां निकल सकता।

अब इसमें दो बातें थी-

  • वह गैरकानूनी तरीके से अमेरिका से बाहर निकल गया।
  • वह अपने किसी रिश्तेदार के यहां पर छुपा हुआ है।

FBI के पास विकल्प-

विकल्प थे कि वह अमेरिका से बाहर कहां-कहां गया है। इस पर FBI ने काफी छानबीन की। उसके सुराग कनाडा में पाए गए। कनाडा में जांच की गई। दूसरा यह कि न्यू जर्सी और इंडिया इन सब जगहों पर इसके होने की गुंजाइश थी। इन्हीं जगह पर पुलिस ने अपने तरीके से छानबीन की। लेकिन कोई जानकारी नहीं मिली। धीरे-धीरे वक्त बीतता चला गया। आज 2020 आ गया। तीन बार से FBI के टॉप टेन लिस्ट में भद्रेशकुमार ने जगह बना रखी है। मगर इसका कोई सुराग नहीं मिला। गुजरात में भी तमाम ठिकानों पर इसकी छानबीन की गई। मगर (But) कहीं पर भी कोई इसका सुराग नहीं मिला। भारत की एजेंसी के द्वारा भी इसको तलाश करने और पकड़ने की मदद ली गई।  मगर सब बेकार चली गई। कनाडा में भी तलाश करने की कोशिश की गई। मगर वह भी बेकार गई।

FBI ने (BhadreshKumar ChetanBhai Patel FBI Most Wanted) की कई थ्योरी पेश की-

अब (Now) सवाल यह दुनिया कितनी बड़ी एजेंसी ऐसे शख्स को नहीं पकड़ पाई। जो एक किलर भी नहीं था। FBI ने इसकी कई थ्योरी पेश की। जिसमें यह थी एक पत्नी घर वापस आना चाहती थी। पति नहीं आना चाहता था। इस वजह से उन दोनों में झगड़ा हुआ। उसने अपनी पत्नी को कत्ल कर दिया। फिर इसकी कोई और वजह है। यह कातिल के पकड़े जाने के बाद ही पता चलेगी। मगर कातिल 5 साल से गायब है।

FBI ने अपनी पूरी कोशिश कर ली है। अब भी कोशिश में लगी हुई। यही वजह है, कि हर साल अपने Most Wanted में उसका नाम शामिल करती है। FBI ने तो यहां तक भी बयान दिया है। BhadreshKumar ChetanBhai Patel FBI Most Wanted ने जितनी बेरहमी से अपनी पत्नी को मारा है। यह एक खतरनाक Killer और इसके पास खतरनाक हथियार हो सकते हैं। जो भी इसे देखें वह सावधान रहें और फौरन इंफॉर्मेशन कर दें।

2 Replies to “एक भारतीय कातिल जिसने अमेरिका ले जाकर बीवी का क़त्ल किया

  • Nazar Hasan
    Nazar Hasan
    Reply

    Very good

  • Nazar Hasan
    Nazar Hasan
    Reply

    Nice

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *