D.B Cooper जिसने Plane Hijack किया। एक शख्स जो प्लेन को हाईजैक करता है,और प्लेन के बदले मे फिर वो पैसे वसूलता है। फिर वो पैसे लेकर गायब हो जाता है, और किसी के हाथ नहीं आता। अब उसे ज़मीन निगल गयी या आसमान खा गया ये ऐसी ही कहानी है।

25 नवंम्बर को अमेरिका में थैंक्सगिविंग डे मनाया जाता है, और ये कहानी 24 नवम्बर की है। अमेरिका में एक Oregon State है। Oregon में एक शहर है जिसका नाम Portland है। ये कहानी Portland से ही शुरू होती है। Portland International Airport पर एक शख्स पहुँचता है। दोपहर का वक्त था क्योंकि अगले दिन थैंक्सगिविंग डे था तो तो ज्यादातर लोग पहले ही घर पर आ चुके थे। इस लिए यह एयरपोर्ट भी खाली था। जिस तरह से सभी एयरपोर्ट पर अलग-अलग Airline होती है। उसी तरह वहाँ पर भी नार्थ वेस्ट एयरलाइन का काउंटर था।

वो नार्थ वेस्ट एयरलाइन के काउंटर पर जाता है। और एक टिकट किसी दूसरे शहर की बुक करा लेता है। इस शख्स की उम्र करीब 40-45 साल थी। टिकट लेने के बाद ये प्लेन में सवार हो जाता है। इत्तेफाक से इसकी सीट प्लेन में सबसे सबसे पीछे की तरफ थी। पिछले दरवाजा वही पर था। शायद उसे ऐसी ही सीट की तलाश थी।

वह एक attendant को अपनी तरफ इशारा करके बुलाता है और उस Attendant का नाम फ्लोरेंस था । उसको बुला कर वह उसे एक पर्ची देता है पर बोलता कुछ नहीं फ्लोरेंस को लगा कि शायद यह कोई आवारा है और अपना फोन नंबर दे रहा है और फ्लोरेंस ने कोई इंटरेस्ट नहीं लिया और उस पर्चे को अपने बैग में रख लिया । इसने देखा कि उस फ्लोरेंस ने उसे पढ़ा नहीं तो थोड़ी देर के बाद उसे फिर बुलाता है और फिर उससे कहता है अगर आपने वह पर्ची पढ़ ली तो ठीक नहीं तो मैं बता देता हूं कि मेरे पास एक बम है और मैं उसका इस्तेमाल कर सकता हूं अब जैसे ही यह बात सुनती है जाहिर सी बात है वह घबरा जाती है क्योंकि प्लेन काफी सीट खाली थी क्योंकि इसमें कुल 34 मुसाफिर थे ।
लगभग उसमें डेढ़ सौ पैसेंजर बैठ सकते थे जब वो घबरा जाती है ।

उसके बाद वह उसको बैठाता है और एक दूसरा खत निकालता है अब वह दूसरी पर्ची उसको देता है सभी कुछ कैपिटल लेटर में लिखा हुआ था यह टाइप किया हुआ था और उसमें से दो लाइन लिखी हुई थी कि मैं इसका इस्तेमाल कर सकता हूं अब जाहिर सी बात है फ्लोरेंस पढ़ने के बाद घबरा जाती है और पसीने पसीने हो जाती है और उससे कहता है कि तुमने यह लेटर पढ़ लिया है । अब तुम मेरे कब्जे में हो और यह प्लेन हाईजैक हो चुका है । इसके बाद यकीन दिलाने के लिए वह कहता है। बैठो मैं तुम्हें कुछ दिखाता हूं वह जो यह बड़ा बैग लेकर चढ़ा था जाहिर सी बात है ज्यादातर लोग बैग ऊपर पर रख देते हैं पर इसने बैग को ऊपर नहीं रखा था । अपने ही पास रखा था और बराबर की खाली सीट पर रख दिया था । वह  बैग उठाता है और उसे खोलकर फ्लोरेंस को दिखाता है । उसे देखकर फ्लोरेंस घबरा जाती है उसके अंदर काफी वायर और सिलेंडर टाइप का कुछ रखा हुआ था । वह बम जैसा ही दिख रहा था अब फ्लोरेंस को यकीन हो जाता है ।

अब उसके बाद वह फ्लोरेंस को एक और पर्ची देता है और कहता है कि अब तुम्हें मालूम हो गया है । अब तुम सब मेरे कब्जे में हो और प्लेन हाईजैक हो चुका है तो अपने पायलट को जाकर मेरा मैसेज दे दो कि मुझे क्या चाहिए । उसे वह उस पर्ची में लिख कर देता है जो उसकी डिमांड थी

  1. दो लाख अमेरिकी डॉलर।
  2. चार पैराशूट।
  3. और इस प्लेन में इंधन भरवाना।

अगर यह तीन मांगे मान ली गई तो ठीक है वरना वह उस प्लेन को उड़ा देगा । पर्ची लेकर फ्लोरेंस पायलट के पास जाती है । उस प्लेन के जो कैप्टन विलियम्स प्लेन के पायलट उसको को पढ़ते हैं तो घबरा जाते हैं । पूरी डिटेल मालूम करते हैं वह बताती है। वह कोई रिस्क नहीं लेना चाह रहे थे । उसके बाद कैप्टन विलियम्स जहां पर इस प्लेन को जाना था । उसके एयर ट्रेफिक कंट्रोल को संपर्क करते हैं और बताते हैं कि ऐसा ऐसा हो गया है । एक पैसेंजर है उसका नाम D.B Cooper है। इसके पास एक बैग है और बैग में बम है । उसकी डिमांड दो लाख अमेरिकी डॉलर चार पैराशूट और जहाज में ईंधन भरवाने की है। वरना पैसेंजर समेत पूरे प्लेन को उड़ा देगा।

एटीसी में जैसे ही यह खबर पहुंचती है पूरे एयरपोर्ट में हड़कंप मच जाता है। उसके बाद एफबीआई और बाकी तमाम एजेंसियां पुलिस और एयरपोर्ट सिक्योरिटी को अलर्ट पर रखा जाता है। बाकी एजेंसी पोर्टलैंड एयरपोर्ट से पैसेंजर की जानकारी निकालते हैं । सब कुछ होता रहा और सोचा कि अब क्या किया जाए जब तक D.B Cooper कहता है कि जब तक उसकी मांग पूरी नहीं की जाएगी तो यह हवाई जहाज एयरपोर्ट में लैंडिंग नहीं करेगा क्योंकि उसे पता था कि अगर प्लेन वहां पर लैंड कर गया तो वह पकड़ा जाएगा।  वह डायरेक्ट पायलट से कहता है कि अगर तुमने प्लेन को लैंड कराने की कोशिश की तो वह प्लेन को उड़ा देगा अब नीचे बातचीत हो रही है।   उसकी एक डिमांड और थी कि वे दो लाख  डॉलर उसको 20-20 के नोट में चाहिए।

20 से बड़ा कोई भी नोट ना हो अब यह सारी डिमांड वहां पहुंची और अफरातफरी में यहां पर डिसाइड यह किया गया कि एक बार वह नीचे आ जाए और उसको पैसे दे दिया जाए । वह जहां कहीं भी लैंड करेगा उसको वहां पर पकड़ लेंगे । उसकी मांग पूरी कर दी जाए और उसके बाद शहर के अलग-अलग बैंकों से 20-20 के नोटों को इकट्ठा किया गया। इसके अलावा चार पैराशूट को का इंतजाम करने को कहा गया।एटीसी के जरिए से मैसेज पायलट तक भेज दिया गया  कि उसकी सभी मांग मान ली गई है।

करीब 5:25 पर यह खबर पायलट को दी जाती है कि उसकी बात मान ली गई है। पायलट D. B. Cooper  को बताता है। D. B. Cooper इसके बाद तैयार हो जाता है। D. B. Cooper कहता है कि अब Seattle Airport में प्लेन को लैंड किया जाए।  शाम के 5:39 पर यह हवाई जहाज Seattle Airport पर लैंड कर जाता है । लेकिन इसकी डिमांड यह भी थी कि इस हवाई जहाज को एक अलग रनवे पर खड़ा किया जाए। साथ में प्लेन की जितनी भी खिड़किया थी उन सब पर इसने कवर चढ़ा दिया ताकि कोई बाहर से ना देख सके। यह सारी चीजें हो गई इसके बाद पहली चीज यह होती है कि उसने जो चार पैराशूट मंगाए थे कि वह आर्मी एयरफोर्स के नहीं होने चाहिए बल्कि जो पब्लिक Use करती है। वह पैराशूट होने चाहिए तो फिर उन पैराशूट का भी इंतजाम किया जाता है। 20-20 के डॉलर की शक्ल में दो लाख अमेरिकी डॉलर को लेकर इसी एयरलाइंस का जो Seattle Airport पर जो मैनेजर था क्योंकि इसके शर्त थी कोई कोई पुलिस या आर्मी वाला कोई भी पैसा लेकर ना आए नहीं तो वह हवाई जहाज को उड़ा देगा।

रिस्क लेना भी मुनासिब नहीं समझा गया और मैनेजर को दो लाख डॉलर और पैराशूट लेकर हवाई जहाज के अंदर भेजा गया। वह आता है D. B. Cooper के हवाले करता है उसके बाद उससे बातचीत करने के लिए भी प्रार्थना की जाती है कि नीचे ग्राउंड पर बात करें मगर वह मना कर देता है। उसे वापस भेज देता है। अब बात इंधन की थी और इंधन भरना शुरू हो जाता है तब तक सारे मुसाफिर उसके अंदर बैठे रहते हैं इसके बाद जब इंधन भर जाता है तो बदले में जो 35 मुसाफिर सबको यह Seattle Airport पर उतरने की इजाजत दे देता है। प्लेन से एक-एक कर सभी मुसाफिर नीचे उतर जाते हैं।  साथ में 2 क्रू member को भी यह नीचे जाने की इजाजत दे देता है।  जिसमें से 1 फ्लोरेंस थी जिसे पहले इसने पर्ची दी थी। अब प्लेन में सिर्फ 5 क्रू member बचते हैं Pilot और Co-Pilot समेत और यह खुद था।

सभी को नीचे उतारने के बाद क्योंकि इंधन भर चुका था और यह पायलट से कहता है कि हवाई जहाज को उड़ाया जाए पायलट के पास कोई चारा था नहीं उसके बाद Plane एयरपोर्ट के रनवे से उड़ता है। इसके बाद FBI और बाकी एजेंसी कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी। क्योंकि D.B Cooper अंदर ही था वह प्लेन को उड़ा सकता था। प्लेन में मुसाफिर के अलावा भी 5 लोग मौजूद थे। इसीलिए उन्होंने रिस्क नहीं लिया और सोचा कि कहीं पर तो यह जाकर उतरेगा तब हम इसे पकड़ लेंगे एफबीआई ने जितने भी डॉलर दिए थे उन सब के नंबर अपने पास लिख लिए थे । स्पेशल तौर पर उन्होंने जितने भी नोट दिए थे वह सब L-Series के दिए थे ताकि अगर कोई भी इन नोट को खर्च करेगा तो उनका पता चल जाएगा । 7:40 पर अब प्लेन एयरपोर्ट से टेक ओवर कर जाता है।

जैसे ही यह टेकओवर करता है, D.B Cooper पायलट से कहता है उसकी पहली बात तो यह कि जब भी हवाई जहाज उड़ेगा तो 10000 किलोमीटर की ऊंचाई से ऊपर नहीं जाएगा दूसरी यह कि इसकी स्पीड Minimum होगी यानी कम से कम होगी। तीसरी यह के हवाई जहाज के पीछे के दरवाजा खोल दो इसके बाद यह पायलट से कहता है कि आप प्लेन को मेक्सिको की तरफ लेकर चलो तो पायलट प्लेन को मेक्सिको के रुट पर लेकर चलता है।

जिस स्पीड और ऊंचाई पर को पढ़ने प्लेन को उड़ाने के लिए कहा था उसमें ईंधन का खर्च ज्यादा था तो पायलट D.B Cooper को बताता है कि अगर इस तरीके से हम जाएंगे तो मैक्सिको पहुंचने से पहले हमें प्लेन के अंदर दोबारा ईंधन भरवाना पड़ेगा। इसने पायलट से कहा कि कोई दूसरा ऑप्शन बताओ तब वह बताता है कि मेक्सिको से पहले एक रेनू जाना है यह नवादा में है। वहां पर हम लैंड कर सकते हैं। Cooper थोड़ी देर सोचता है और फिर कहता है कि ठीक है आप इसको रेनू के रुट पर ही ले लो तो यह रेनू के रूट पर जाते हैं। जब रोड पर प्लेन डाइवर्ट हो गया थोड़ी देर के बाद थोड़ी अचानक D.B Cooper हुकुम देता है कि जितने क्रू मेंबर बचे हैं जिनमें से एक इंजीनियर भी था उन सब से कहता है कि आप कॉन्पैक्ट में चले जाएं तो Pilot और Co-Pilot already कॉन्पैक्ट में था जो तीन बाहर बजे थे उन तीनों को भी को D.B Cooper ने कॉन्पैक्ट में भेज दिया । अब पूरे प्लेन में पीछे सिर्फ अकेला D.B Cooper ही बचा था।

उसने कहा कि आप कि आप इसे अंदर से बंद कर लो और कोई भी बाहर नहीं आएगा। अगर कोई बाहर आया तो बहुत बुरा होगा। सब कॉन्पैक्ट के अंदर चले गए अब प्लेन के पीछे सिर्फ D.B Cooper हैं, प्लेन उड़ रहा था। करीब 8:10 पर पायलट को लगता है कि प्लेन में पीछे से एयर प्रेशर बढ़ रहा है और प्लेन का बैलेंस बिगड़ रहा है । यह जब मुमकिन है जब प्लेन के अंदर बाहर से हवा आ रही हो और यह नामुमकिन है फिर भी पायलट सब कुछ चेक करता है उसके बाद जब उसे लगता है कि शायद कुछ गड़बड़ है और को पायलट डरते डरते कॉन्पैक्ट का दरवाजा खोलता है। तो देख कर चौक जाता है। देखता कि प्लेन के अंदर बहुत तेज हवा आ रही है। पीछे का दरवाजा खुला हुआ है। वह भागता है। किसी तरीके से उस दरवाजे को बंद करता है।

बंद करने के बाद चारों तरफ देखता है और वापस कॉन्पैक्ट में आता है। पीछे का दरवाजा बंद करने के बाद प्लेन का बैलेंस फिर से बन चुका था। इसके बाद प्लेन अपनी Normal स्पीड में चलने लगा। प्लेन के अंदर जब तक उसे D.B.Cooper नहीं दिखाई दिया।  उसे लगा कि शायद वह किसी सीट के नीचे छुपा हुआ होगा क्योंकि D.B Cooper ने Co-Pilot पायलट से कहा गया था कि कोई भी कंपैक्ट से बाहर नहीं निकलेगा। इस वजह से पायलट ने उसे देखने की ज्यादा कोशिश भी नहीं की और अब प्लेन रेनू के लिए उड़ान भरने लगता है। उसे वहां पर इंधन भरवाना था। इसके बाद रात 10:15 पर यह प्लेन रेनू एयरपोर्ट पर लैंड करता।

इस दौरान में जब यह प्लेन Seattle Airport से उड़ा  तब एयर फोर्स के जो फाइटर थे। इस प्लेन के ऊपर एक इस के नीचे जेट फाइटर प्लेन को इस तरीके से उड़ा रहे थे। किसी को यह पता ना चले अगर वह देखे भी कि हम उनका पीछा कर रहे हैं ताकि जहां पर भी यह लैंड करें हम उसको वहां पर दबोच लेंगे। एयरफोर्स के यह दो प्लेन भी उसके साथ साथ चल रहे थे क्योंकि रेनू एयरपोर्ट पर पहले ही खबर दी जा चुकी थी कि एक प्लेन हाईजैक हो चुका है। इसलिए वहां पर भी सब चौकस थे। जब वह वहां पर उतरता है तो उसको अचानक चारों तरफ से घेर लिया जाता है कमांडोज और सभी दस्ते वहां पर पहुंच जाते हैं एफबीआई की टीम भी वहां पहुंच जाती है। एयरफोर्स की सिक्योरिटी भी वहां पहुंच जाती है और पैरा मिलिट्री गॉड भी। इसके बाद प्लेन का दरवाजा खुलता है और Pilot और Co-Pilot पायलट और क्रू मेंबर भी एक-एक करके नीचे उतरते हैं अब सिर्फ अब प्लेन के अंदर सिर्फ D.B Cooper ही था।

कमांडो उसे पकड़ने के लिए एहतियात के साथ प्लेन के अंदर घुसते हैं और पूरा प्लेन छान मारते हैं मगर D.B Cooper का कुछ पता नहीं चलता।  प्लेन के अंदर पिछली सीट के पास सिर्फ दो पैराशूट मिले D.B Cooper ने चार मांगे थे। जिनमें से दो वहां पड़े थे और दो गायब थे ।उसके बाद एयर फोर्स के जो फाइटर प्लेन उनके पीछे थे उनसे पता किया गया तो उन पायलट ने बताया कि हमें पूरे रास्ते में कोई भी इस हवाई जहाज से कूदता हुआ नहीं दिखा।  हालांकि उसमें यह भी था कि कई जगह पर बादल और रात का अंधेरा भी था। अब सभी हैरान थे कि प्लेन के अंदर सब कुछ है मगर वह जिसने प्लेन को हाइजैक किया था और जो पैसे उसने लिए थे वह गायब हैं। इसके बाद फिर ढूंढना शुरू किया गया कि यह कहां जा सकता है इसके बाद दोनों एयरपोर्ट के बीच इतने अभी ग्राउंड का इलाका था। वहां जाकर उसको देखा गया वहां पर जो नदिया थी नदिया को सर्च किया गया लंबी तलाशी ली गई इस तलाशी के दौरान दो इंसानों के कंकाल मिले जिससे एक केस और खुलकर सामने आ गया उनमें से एक कंकाल किसी औरत का था जिसकी मौत काफी पहले हो चुकी थी। उसके डीएनए से उसका पता किया गया । इस को मारकर इस नदी में फेंक दिया गया था तो यह सारी कोशिश जारी रही लेकिन ना तो D.B Cooper पर का कोई पता था और ना ही D.B Cooper लाश मिली।

FBI ने माना कि जिस तरीके से वह हवाई जहाज से बाहर की तरफ कूदा था।  रात का अंधेरा था तो उसके बचने की कोई चांसेस नहीं लेकिन सबूत के तौर पर उसकी लाश और वह पैसे नहीं मिले लंबी छानबीन चलती रही कई कई सौ लोगों ने कई कई किलोमीटर तक के जंगल छान मारे यहां तक की नदियां भी छान मारी लेकिन वह शख्स नहीं मिला।

अब इसकी तफ्तीश की गई कि उसने भी D.B Cooper के नाम से जो टिकट लिए थे। उसका  नाम असली था या नकली था। जो प्लेन का स्टाफ था उनसे पूछ कर उसका Scatch बनाया गया । इसमें 800 से करीब लोगों को गिरफ्तार किया गया । पूछताछ की गई लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ तो इस तरीके से लगातार इन्वेस्टिगेशन जारी रही लेकिन इसका कोई पता नहीं चला।

इस दौरान में करीब बहुत सालों के बाद एक जगह से एक लड़के को दो पैकेट मिलते हैं। जिस पैकेट में कुछ डॉलर थे और वह सारे 20-20 के डॉलर थे। जब एफबीआई तक यह बात पहुंची यह उसी रुट पर था जहां रेनू का एयरपोर्ट था। यह पता चला कि जो नोट उस लड़के को मिले हैं उसके सीरियल नंबर और जो नोट D.B Cooper को दिए गए थे दोनों आपस में मैच कर रहे थे। इसका मतलब यह था कि मैं पैकेट उसी के थे मगर बाकी के पैकेट नहीं मिले। उस पूरे इलाके को भी छान मारा गया और ढूंढने की कोशिश की गई लेकिन वह भी नहीं मिला और फिर इसके आगे क्या हुआ यह आज तक किसी को पता नहीं क्योंकि उस लड़के को पैसे मिलने के बाद उस लड़के का उनसे क्या लिंक था यह कोई जानकारी नहीं मिली।

करीब 46 साल के बाद 2016-17 FBI ने अपनी हार मान ली। उसने कहा कि हम इस Case को सॉल्व नहीं कर सकते। हमने हमने जितने भी जोर लगाने थे।  हमने सब कुछ कर लिया लेकिन हमें नहीं मालूम D.B Cooper  कौन है।  उसका असली नाम है कि नहीं कहां से आया है कहां गया।  इसके बारे में कोई जानकारी नहीं और वह पैसे कहां गए यह भी मालूम नहीं तो इस तरीके से यह अमेरिका के इतिहास में सबसे बड़ा हवाई रहस्य बना हुआ है। किसी Commercial Plane  हाईजैकिंग और फिरौती को लेकर यह इकलौता मामला है !

2 Replies to “अमेरिका के सबसे रहस्यमयी Plane Hijack की कहानी। जिसका राज FBI भी नहीं खोल सकी

  • AffiliateLabz
    AffiliateLabz
    Reply

    Great content! Super high-quality! Keep it up! 🙂

  • Viva_viagra_lyrics
    Viva_viagra_lyrics
    Reply

    Thank you ever so for you post.Much thanks again.viva viagra lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *