Home Murder अमेरिकी राष्ट्रपति (John F Kennedy) की मौत जिसका राज आज तक नहीं...

अमेरिकी राष्ट्रपति (John F Kennedy) की मौत जिसका राज आज तक नहीं खुला

560
5
johnfkannedy-murder

ये कहानी America के 35 वे President John F Kennedy Murder की है। जिनकी गोली मार कर हत्या कर दी जाती है। एक तो अमेरिकी राष्ट्रपति और उसके साथ कुछ हो जाये और वो रहस्य रहे ये सुनकर अजीब लगता है । लेकिन ये एक हक़ीक़त है। आज तक ये नहीं पता चला कि अमेरिकी राष्ट्रपति को जो गोली मारी गयी थी वो क्या था वो शाजिस थी या किसी सरफिरे का बदला था।

इस कहानी में कई सारी ऐसी चीजे है जो आज भी लगभग 52 सालो बाद ये नहीं पता चला की John F. Kennedy का जो क़त्ल हुआ था उसके पीछे कौन था। अमेरिकी एजेंसी FBI ने इसकी जांच की थी। अमेरिका में अब तक चार राष्ट्रपति की इस तरह से मौत हो चुकी है । John F. Kennedy जवान होने के साथ-साथ खुबशुरत भी थे। सिर्फ 2 साल 10 महीने 2 दिन ये राष्ट्रपति रहे ।

इनकी मौत लो लेकर दो चीजे थी। क़त्ल के लगभग 2 घंटे के अंदर अमेरिकी पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार किया। पुलिस ने कहा की यही राष्ट्रपति का क़ातिल है। 48 घंटे के भीतर जिसे राष्ट्रपति का क़ातिल समझ रहे थे। कोई दूसरा आदमी पुलिस हिरासत में गोली मार देता है। जब आरोपी को दूसरी जेल में शिफ्ट किया जा रहा था। मारने वाला शख्स ये कहता है। मैंने इसे सिर्फ इसलिए मारा की मुझसे राष्ट्रपति John F Kennedy Murder बर्दास्त नहीं हुआ। इसलिए मेने इसी गोली मार दी।

लेकिन बात यही नहीं रुकी आरोपी को मारने वाले शख्स की अचानक मौत हो जाती है। अब यहाँ सवाल ये था की इस केस से जुड़ा हुआ हर शख्स मारा गया। कहीं ऐसा तो नहीं था की इस केस के पीछे कोई तीसरा शख्स था जो नहीं चाहता था की ये राज खुले।

उस वक्त शीत युद्ध चल रहा था। क्यूबा से अमेरिका की लगभग जंग की स्थिति आ गयी थी। इस वजह से रूस के साथ भी अमेरिका के रिश्ते सही नहीं थे और ये सब John F Kennedy के कार्यकाल में चल रहा था । उस वक्त ये बात भी सामने आई थी की क्यूबा के राष्ट्रपति की John F Kennedy ने सुपारी दी थी।

लेकिन फिर बाद में रूस के साथ समझौते से जॉन की पॉपुलैरिटी बढ़ गयी और कुछ चीजे सही होने लगी। राष्ट्रपति की मौत के पीछे कुछ लोग क्यूबा का भी हाथ बताते है। कुछ लोग इंटरनल शाजिस बताते है, लेकिन हकीकत किसी को मालूम नहीं।

ये 21 नवम्बर 1963 की बात है, अमेरिका में एक शहर डलास है,उस वक्त डलास में एक चीज और भी थी की जो उस वक्त डलास के गवर्नर और democratic पार्टी के रिश्ते आपस में सही नहीं थे। जॉन फ इस लड़ाई को कम करने के लिए और समझौता कराने के लिए डलास जाने का फैसल करते है। लेकिन उससे पहले एक चीज और भी थी के ये डलास न जाये उसकी वजह ये थी के उस वक्त UN में अमेरिका के जो राजदूत थे उनको लेकर डलास में काफी विरोध प्रदर्शन हुआ था और ख़ास तौर पर वहां के रिटेल कारोबारी ने FBI को चेतावनी दी थी के डलास में John F Kennedy के खिलाफ काफी गुस्सा है और उनकी जान को खतरा है। इस लिए वो डलास ना आये।

John F Kennedy murder
John F Kennedy In Dallas

लेकिन वाइट हाउस और एजेंसी ने इस बात को नहीं माना और 22 नवम्बर 1963 जॉन फ कैनेडी डलास पहुँच जाते है। दोपहर 12 बजे वो डलास पहुँचते है और उनके कहने पर उकनी कार की ऊपर की छत खोल दी गयी। उनका काफिला आगे बढ़ रहा था उनके साथ उनकी बीवी और वहां के गवर्नर थे। उनको देखने के लिए लाखो की तादाद में लोग वह पहुंचे थे। तकरीबन 12:30 PM का वक्त था वो लोगो का स्वागत कर रह थे तभी उनका हाथ गर्दन की तरफ जाता है।

उनके सर का कुछ हिस्सा और खून उनके साथ जो उनकी बीवी थी उनको आकर लगता है, और वो गिर जाते है, चारो तरफ अफरा तफरी थी तभी उनको हॉस्पिटल ले जाया जाता है हॉस्पिटल पहुँचने तक उनकी सांसे चल रही थी मगर हॉस्पिटल पहुँचने के बाद करीब 1:00 PM बजे उनकी मौत जो जाती है।

2 घंटे के अंदर पुलिस एक 24 साल के शख्स को पकड़ती है जिसके पास एक गन मिलती है। पर वो शुरू से मना कर रहा था की उसने खून नहीं किया है। अब वहाँ के उपराष्ट्रपति ने जिद लगाई थी की पहले वो राष्ट्रपति की सपथ लेगे तब राष्ट्रपति John F. Kennedy को वाशिंगटन लेकर जायँगे। अब अमेरिकी राष्ट्रपति John F. Kennedy को वहाँ के उपराष्ट्रपति राष्ट्रपति  की सपथ लेने के बाद फ़ौरन वाशिंगटन ले गए। जबकि उन की लाश का पोस्टमार्टम वही पर होना चाहिए था। वो जो लड़का गिरफ्तार हुआ था अचानक एक शख्स आकर उसे मार देता है और कहता है की उसने उसे इस वजह से मारा क्योंकि उससे John F. Kennedy की बीवी का दर्द देखा नहीं जा रहा था। कुछ दिनों बाद उसकी भी मौत हो जाती है, बताया ये गया की उसने खुदख़ुशी की।

अब इसके पीछे कौन था आज तक सही से नहीं पता चला । कुछ लोगो का मानना है इस केस की जाँच सही तरीके से नहीं हुई । मगर John F Kennedy Murder के पीछे कौन था। आज तक किसी को नहीं मालूम। वो जो 24 साल का लड़का जो पकड़ा गया था दो साल पहले रूस और क्यूबा गया था। कुछ का शक इस लिए क्यूबा पर भी जाता है। मगर सोचने वाली बात ये है की जहा से गोली चलाई गयी। वहाँ पर शूटर अकेला तो नहीं होगा। कोई तो उसका साथी होगा। मगर आज तक ये एक राज ही है……………